Thursday, 6 May 2021

समय पर कविताएँ | Poem on Time in Hindi

'समय' सबसे कीमती संसाधन है क्योंकि आप इसे कभी वापस नहीं पा सकते। यह जवाब वास्तव में मायने रखता है क्योंकि आप समय को बर्बाद नहीं कर सकते। यह सदैव चलायमान रहता है, बिना रुके, बिना थके, सदैव क्रियाशील रहता है। लोग अक्सर पैसे को अपना सबसे मूल्यवान संसाधन मानते हैं, लेकिन नहीं समय ही सबसे मूल्यवान होता है। इसके ही सदुपयोग से ही हम सब मूल्यवान वस्तुओं को प्राप्त कर सकते है। समय के साथ ही अगर हम कदम से कदम मिलाकर चले, तभी हमको अपनी महत्तवता ज्ञात होती है अन्यथा नहीं।

आज हम समय की विशेषता बताते हुए कुछ समय पर कविताएँ आपके समक्ष साझा करते है।

समय पर कविताएँ | Poem on Time in Hindi


Poem on Time in Hindi, Importance of Time Kavita, Samay Par Kavita, समय पर कविताएँ
Poem on Time in Hindi

Poem on Time in Hindi


समय हूँ मैं

समय हूँ मैं,
सदैव चलायमान,
अनवरत बिना रुके, बिना थके।

बाँध सका न कभी,
कोई मुझको अपनी मुट्ठी में,
बस जो चला कदम मिलाकर मुझसे,
मैं उसका ही हो चला।

नही करता मैं किसी का इंतज़ार,
बढ़ती रहती मेरी हरदम रफ़्तार,
खानाबदोश सा हूँ मैं,
काम मेरा बस चलते जाना।

पल-पल से है मेरी जिंदगी,
बेशकीमती हूँ लोग कहते मुझे,
जिसने समझी मेरी अहमियत,
बदल दी मैंने उसकी क़िस्मत और काया।

समय हूँ मैं,
सदैव चलायमान,
अनवरत बिना रुके, बिना थके।
- Nidhi Agarwal

समय पर कविताएँ


समय का चक्र

समय का चक्र जब चलता है,
पीछे छूट सब जाता है,

बीत गया जो दिन, प्रतिक्षण,
कहाँ लौट के आता है।

होता जब अनुकूल समय,
जीवन रम्य नज़र आता है,

जहाँ हुई प्रतिकूल परिस्थतियाँ,
दोष समय पर आता है।

इतिहास साक्षी है इस समय काल का,
जो आज था बीत गया,

आने वाला पल कब अपना होगा,
कहाँ कोई जान पाता है।

दिवस के बाद रात्रि है आती,
चाँद रात को ही आता है,

कब रवि निशा को रौशन करता,
नियत समय पर आकर वो भी अपना दायित्व निभाता है।

समय नाम की गाड़ी पर,
वही सफ़र कर पाता है,

देता महत्व जो इसको हरदम,
और संग इसके आगे कदम बढ़ाता है।
- निधि अग्रवाल

Samay Par Kavita


समय बड़ा बलवान

समय बड़ा बलवान है,
समय के हम सब साथ बढ़े।
आओं संग-संग चलके इसके,
अपना भी कुछ नाम करें।

देखो अम्बर में भी,
समय से सूरज-चाँद उगे।
समय से फैले उजियाला,
समय से रात्रि की छटा दिखे।

देखो समय से उगता पौधा,
समय से उसमें पुष्प खिलें।
समय से मौसम भी आता,
समय से सारे मिटें गिले।

समय से हम सब उठे,
समय से सब आराम करे।
समय से हम खेले और कूदें,
समय से हर एक काम  करें।
- Nidhi Agarwal

दोस्तों, ये समय का सदुपयोग ही मनुष्य को महत्त्वपूर्ण बनाता है। यह बड़ा बलवान है। वो कहते है कि समय से फैला उजियाला ही, रात्रि की छटा को समेटता है। हमें आशा है कि आप सभी को यह Poem on Time in Hindi अवश्य पसंद आयी होगी। हम अपनी कविताओं के माध्यम से आपको समय के महत्त्व से अवगत कराना चाहते है और उसकी विशेषता बताना चाहते है।

No comments:

Post a Comment

Most Recently Published

जंगल पर कविताएँ | Poem on Jungle in Hindi

पृथ्वी पर जीवन के लिए जंगलों का होना अति आवश्यक है। जंगलों के कारण ही धरती पर वर्षा होती है। जंगलों के कारण ही हमें ढेरों वनस्पतियाँ मिलती ह...