Breaking

Tuesday, 26 February 2019

भारतीय सैनिकों पर कविताएँ | Poem on Indian Soldiers in Hindi

अपनी नींदों को त्याग करके हमें चैन की नींद सुलाने वालें, अपने प्राणों को न्योछावर कर हमारी रक्षा करने वालों वीरों को हम शत-शत नमन करते है। जब -जब भी हमारी धरती पर संकट के बादल छाए हैं, इन वीर शहीदों ने जबाज़ी से दुश्मनों से लड़ कर, बड़ी कुशलता से सामना किया है और हमारी धरती माँ की रक्षा की है। इन वीर शहीदों के बलिदानों की जितनी प्रशंसा की जाए कम है, इन शहीदों के लिए कविताओं के माध्यम से इनके बलिदानों के लिए प्रशंसा रूपी पुष्प अर्पण करते है और आपके समक्ष Poem on Indian Soldiers in Hindi शेयर करते है।

भारतीय सैनिकों पर कविताएँ | Poem on Indian Soldiers in Hindi


Poem on Indian Soldiers, भारतीय जवानों पर कविता, Patriotic Poem Hindi, Indian Army Poem Hindi, Sainiko Par Kavita
Poem on Indian Soldiers in Hindi

Poem on Indian Soldiers in Hindi


हम वीर सपूत भारत माता के

हम वीर सपूत भारत माता के,
तूफान उठा देंगे।
भारत माँ की रक्षा के खातिर,
दिल जान लुटा देंगे।

छाती इसकी है वतन हमारा।
माटी इसकी है तिलक हमारा।
इस माटी के खातिर हम सब,
खुद की पहचान मिटा देंगे।

हम वीर सपूत भारत माता के,
तूफान उठा देंगे।
भारत माँ की रक्षा के खातिर,
दिल जान लुटा देंगे।

कश्मीर इसका है चमन हमारा।
भारत माँ के मस्तिष्क का तारा।
इसके खातिर हम अपने जीवन का,
हर सुख चैन श्रृंगार मिटा देंगे।

हम वीर सपूत भारत माता के,
तूफ़ान उठा देंगे।
भारत माँ की रक्षा के खातिर,
दिल जान लुटा देंगे।

Written by- Nidhi Agarwal

हम वीर जवान भारत माँ के खातिर मर जाएंगे- मिट जाएंगे, परन्तु इस देश की माटी पर कोई आँच नहीं आने देंगे, हमारे भारतीय जवानों को समर्पित कर कविता 'जीत का आगाज़' आपके सामने प्रस्तुत करता हूँ।

भारतीय सैनिकों पर कविताएँ


जीत का आगाज़

मर गए, मिट गए वतन के लिए,
फिर भी कोई गम न होगा।

वतन के लिए ही जीना है और,
वतन के लिए ही मरना,

ये फ़िल्ज़ का जुनून कभी कम न होगा।
हम आज़ादी के परवाने हैं,

अमन -चैन की लौ में जलते है।
वतन के लिए जलने -मिटने का,

ये सिलसिला कभी खत्म नही होगा।
मेरी हस्ती भी मेरे वतन से है,

मेरी शोहरत भी मेरे वतन से है।
मेरी हर जीत का आगाज़ अब वतन,
के इक़बाल से होगा।

Written by- Nidhi Agarwal

Poem on Indian Soldiers in Hindi


हम वीर हैं

हौसलें बुलंद रहें,
भुजाओं में बल रहे,
शोक-दंभ त्यागकर हम,
अग्रसर होते रहे।
डरे नही हम कभी,
पद कभी थके नही,
दुर्गम पथ पर निर्विघ्न हम बढ़े रहे।
कंटक भी रहे सहे,
टकराकर भी शूल से,
कभी हम झुके नही, कभी हम रुके नही।
वीर थे, हम वीर हैं,
लक्ष्य के लिए अधीर है,
भीम सा बाहुबल लेकर,
सिंह से गरजते रहें।
Written by- Nidhi Agarwal

भारतीय जवानों पर केवल कविता या अन्य लेख लिखना ही, हमारा उद्देश्य नहीं होना चाहिए, बल्कि हमें उनके असीम बलिदान को समझना भी आना चाहिए। भारतीय सैनिकों का दर्द हम कम से कम अपने दिल में उतार कर देश की सेना को सम्मान के नजरिए से देखें तो यह भी एक बड़ी देशभक्ति होगी।
इन कविताओं के माध्यम से हम आप सबको, खासकर बच्चों को और पूरे देश वासियों को प्रेरित करना चाहते है। ताकि आप सब हमारे शहीदों के बलिदानों को समझे, जिस प्रकार से हमारे वीर सपूत भारत माँ की रक्षा के खातिर दिल लुटा देते है, उसी प्रकार हम सबको कहीं न कहीं, यह भावना अपने देश के प्रति रखनी ही चाहिए।

उदाहरण के तौर हम एक ऐसे वीर जवान के बारे में बात करेंगे जिसका नाम 'अभिनन्दन' है, जी हां आप सभी जानते होंगे इस भारत माँ के वीर सपूत के बारे में, आइये जानते है इस महान पुत्र के बारे में-

Suggested Topics For You:



आप को भारतीय सैनिकों पर कविताएँ Poem on Indian Soldiers in Hindi कैसी लगी, हमें जरूर बताएं कमेंट के माध्यम से, यदि अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक और व्हाट्सअप पर शेयर कर दीजिये, अन्य कविताओं की सूची के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक कर दीजिये।

Edited by- Somil Agarwal

2 comments:

Most Recently Published

बच्चों के लिए कविताएँ | Poem for Kids in Hindi

बड़े प्यारे होते है बच्चे, ईश्वर का वरदान होते है बच्चे। किसे पसंद नही होते, बच्चे। बच्चे न सिर्फ हमारा बल्कि हमारे देश का भी भविष्य होते है...