Click here & install PhonePe

Click here & install PhonePe
Install Phone & Win Assured Casback on your First UPI Transaction

Tuesday, 14 April 2020

डॉ भीमराव अंबेडकर पर कविताएँ | Poem on Dr Bhimrao Ambedkar in Hindi

भीमराव रामजी अंबेडकर का जन्म दिनांक 14 अप्रैल सं 1891 को हुआ था। जिन्हें बाबासाहेब अंबेडकर के नाम से भी जाना जाता है। वह एक भारतीय न्यायविद्, अर्थशास्त्री, राजनीतिज्ञ और समाज सुधारक थे। जिन्होंने दलित बौद्ध आंदोलन को प्रेरित किया और अछूतों (दलितों) के प्रति सामाजिक भेदभाव के खिलाफ अभियान चलाया। वह स्वतंत्र भारत के पहले कानून और न्याय मंत्री भी रहे और भारत के संविधान के प्रमुख वास्तुकार भी। यह हमारी व्यक्तिगत स्वतंत्रता और उसके मूलभूत सिद्धांतों की रक्षा करता है।

आज हम अंबेडकर जी की जयन्ती के उपलक्ष पर Poem on Dr Bhimrao Ambedkar in Hindi आपके के समक्ष शेयर करते है, जिससे कि आप सब इनकी भूमिकाओं के प्रति ज्ञात हो जाएं।

डॉ भीमराव अंबेडकर पर कविताएँ | Poem on Dr Bhimrao Ambedkar in Hindi


Poem on Dr Bhimrao Ambedkar in Hindi, Bheemrav Ambedkar Par Kavita, डॉ भीमराव अंबेडकर पर कविताएँ
Poem on Dr Bhimrao Ambedkar in Hindi

Poem on Dr Bhimrao Ambedkar in Hindi


संविधान के निर्माता

संविधान के निर्माता,
थे वो पुरूष महान,
भारतवर्ष के नव स्वरूप के जनक,
दिया जिन्होंने इसको एक नया आयाम।

स्व-अधिकारों से परिचय करवा हम सबका,
और कर्तव्यों का दिया भान।
धर्म-जाति से ऊपर उठकर,
धर्मनिरपेक्षता का दिया ज्ञान।

अनेकता को एकता के सूत्र में पिरोकर,
रखा संस्कृति का अपनी मान,
भारत माँ की धरोहर और तिरंगे को,
दिया देश में उच्च स्थान।

जन्मदिवस के शुभ अवसर पर उस युगपुरुष को,
करते कोटि-कोटि हम सब प्रणाम,
मिला भारत को जिनसे विश्व में,
एक नया आदर्श और एक नई पहचान।
- निधि अग्रवाल

डॉ भीमराव अंबेडकर पर कविता


महान बाबा भीमराव

मिला जिनसे भारत को नया विधान,
रचा जिन्होंने देश का संविधान।

दिया जनमानस को जिसने एक सम्मान,
रखा जिन्होंने एकता का मान।

कराया जिन्होंने कर्तव्यों का ज्ञान,
रखा स्व-विचारों का जिसने ध्यान।

जिसने सर्वाधर्मों का लिया आन,
माना जिसने सर्वोपरि मानवता और कल्याण।

किया एक गणराज्य को जिसने प्रधान,
किया जिन्होंने जनकल्याण का अवह्वाहन।

दिया जिन्होंने एक नया हिंदुस्तान,
वो थे बाबा भीमराव महान।
- निधि अग्रवाल

दोस्तों, आप सबको डॉ भीमराव अंबेडकर पर कविताएँ कैसी लगी, हमें अवश्य बताइये। आज हम जिनकी वजह से अपने विचारों और व्यक्तिगत स्वतंत्रता लिए इठलाते है, ऐसे महान पुरुष को शत-शत नमन। आप अपने विचार व सुझाव हमसे कमेंट के जरिये शेयर कर सकते है। हमें आशा है कि आपको यह कविताएँ पसंद आयी होंगी। अगर अच्छी लगी हो तो आप इन कविताओं को अपने मित्रों व परिवार जनों के साथ शयर भी कर सकते है, नीचे उपलब्ध शेयर बटन के माध्यम से। ऐसी ही रोचक कविताएँ हम आगे भी आप के लिए लाते रहेंगे।

अन्य कविताएँ:


1 comment:

Most Recently Published

दशहरा त्यौहार पर कविताएँ | Poem on Dussehra in Hindi

दोस्तों, हमारा देश भारत त्यौहारों का देश है। सभी त्यौहारों में दशहरे का त्यौहार पूरे हर्ष और उल्लास से मनाया जाता है। ये त्यौहार असत्य पर सत...